कोहिमा : नागालैंड के मोन जिले में शनिवार की देर रात सुरक्षा बलों की फायरिंग में 13 लोगों की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मारे गए लोगों के उग्रवादी संगठन NSCN से जुड़े होने की आशंका के चलते सुरक्षा बलों ने फायरिंग की।

Advertisement

इस घटना के बाद इलाके में हिंसा फैल गई। सुरक्षाबलों और स्थानीय लोगों के बीच हिंसक झड़प की खबर भी मिली।
असम राइफल्स के अधिकारियों ने बताया कि ऑपरेशन में सुरक्षा बलों को गंभीर चोटें आई हैं। इस दौरान एक सैनिक बेहद गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए गए हैं। स्थानीय सूत्रों के अनुसार आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने वहाँ घेराबन्दी कर फ़ायरिंग की जिसमें 6 लोगों की मौत हो गयी। स्थानीय लोगों का कहना था कि ये सभी आतंकी नहीं थे बल्कि स्थानीय निर्दोष लोग थे। घटना से नाराज़ स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों को घेर लिया, उनके वाहन में आग लगा दी और सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया। वहाँ से निकलने और अपने बचाव के लिए सुरक्षा बलों ने फायरिंग की जिसमें 7 और लोग मारे गए।
नागालैंड के मुख्यमंत्री ने लोगों से संयम रखने और शान्ति बनाए रखने की अपील की है।
केंद्रीय गृह अमित शाह ने इस घटना पर दुःख जताया है।

 

 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here