कीव : रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के एकतरफा सीजफायर के ऐलान के अगले दिन शुक्रवार को रूस ने पूर्वी यूक्रेन के इलाकों में हमला करते हुए मिसाइलें दागीं। गौरतलब है कि पुतिन ने एक दिन पहले ही एकतरफा 36 घंटे सीजफायर की घोषणा की थी। इसकी शुरुआत स्थानीय समयानुसार शुक्रवार की सुबह 9 बजे होनी थी। पिछले साल फरवरी में जबसे युद्ध शुरू हुआ है, तब से पहली बार सीजफायर का ऐलान किया गया है।

Advertisement

रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी यूक्रेन के बखमुत शहर में सीजफायर का समय शुरू होने के बाद भी हमले होते रहे। दोनों ओर से एक-दूसरे पर निशाना साधा गया। वहीं, यू्क्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि रूस द्वारा क्रिसमस को लेकर किया गया वादा सिर्फ बहाना है, ताकि उसे गोला-बारूद पास लाने का समय मिल जाए। यूक्रेन के राष्ट्रपति प्रशासन के उप-प्रमुख ने कहा कि मॉस्को की सेना ने पूर्वी यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर क्रामटोरस्क पर भी हमला किया। जानकारी के अनुसार कब्जा धारियों ने शहर पर दो बार रॉकेट दागे। एक रिहायशी इमारत को निशाना बनाया गया, लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ। क्रिसमस के लिए युद्ध को रोके जाने का पुतिन का फरमान तब आया है, जब हाल ही में रूस के बड़ी संख्या में सैनिकों को जान गंवानी पड़ी है। उधर, यूक्रेन के कई सहयोगियों ने भी बख्तरबंद गाड़ियां और दूसरी पैट्रियट वायुरक्षा बैटरी को भेजने का फैसला किया है। मॉस्को की सेना ने एक हमले में दक्षिणी शहर खेरसॉन पर हमला किया था जिसमें कई लोग मारे गए या घायल हो गए। उन्होंने कहा कि वे सीजफायर की बात करते हैं। हम ऐसे लोगों के साथ युद्ध कर रहे हैं। हालांकि, दूसरी ओर रूसी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि वह एकतरफा सीजफायर का सम्मान कर रहा है, लेकिन यूक्रेन ने हमला करना जारी रखा है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here