राउंड अप 2021 : एक नज़र पश्चिम बंगाल की महत्वूर्ण घटनाओं पर

171

कोलकाता : दुनियाभर में कोरोना महामारी के चलते अपनों को खोने वाली कई कटु यादें देकर वर्ष 2021 विदा हो रहा है। हालांकि बंगाल के लिए यह साल राजनीतिक और सामाजिक स्तर पर बेहद खास रहा है। आज जब हम नववर्ष के स्वागत के लिए तैयार हैं। एक बार नजर डालते हैं साल 2021 की प्रमुख घटनाओं पर।

Advertisement

जनवरी
3 जनवरी : भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और मशहूर क्रिकेटर सौरव गांगुली को हार्ट अटैक आया था।

8 जनवरी : नेताजी सुभाष चंद्र बोस परिवार की बहु और सरत चंद्र बोस की छोटी बेटी चित्रा घोष का निधन हुआ।

13 जनवरी : वित्तीय हेरफेर के आरोप में तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद केडी सिंह को गिरफ्तार किया गया।

13 जनवरी : बाग बाजार कैनल रोड से सटे ब्रिज के नीचे बस्ती में बड़ी आग लग गई थी।

फरवरी

5 फरवरी : पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य का बजट पेश किया था, जिसमें किसानों के लिए महत्वाकांक्षी परियोजना “कृषक बंधु” के लिए वित्तीय आवंटन को बढ़ाया गया था।

मार्च

27 मार्च : विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए वोटिंग हुई।

अप्रैल

1 अप्रैल : दूसरे चरण की वोटिंग हुई।

6 अप्रैल : तृतीय चरण की वोटिंग हुई।

10 अप्रैल : चौथे चरण की वोटिंग हुई।

17 अप्रैल : पांचवें चरण की वोटिंग हुई।

22 अप्रैल : छठे चरण की वोटिंग हुई।

26 अप्रैल : सातवें चरण की वोटिंग हुई।

29 अप्रैल को आठवें चरण की वोटिंग हुई।

मई

2 मई : विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित किए गए। 48 फ़ीसदी वोट लेकर तृणमूल कांग्रेस 113 सीटें जीत गई जबकि 38 फ़ीसदी वोट शेयर के साथ भाजपा 77 सीटें जीतने में कामयाब रही।

5 मई : मुख्यमंत्री के तौर पर ममता बनर्जी ने तीसरी बार शपथ लिया।

10 मई : ममता कैबिनेट के ही पूर्व सहयोगी रहे शुभेंदु अधिकारी को भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाया।

17 मई : बंगाल के मशहूर व्यक्तित्व शीर्ष बनर्जी का ह्दय रोग से निधन।

26 मई : चक्रवात “यास” ने ओडिशा के समुद्र तटीय क्षेत्रों में दस्तक दी थी, जिसका व्यापक प्रभाव पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में पड़ा था। पूर्व मेदिनीपुर, पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम, हुगली, कोलकाता, उत्तर और दक्षिण 24 परगना में भारी बारिश हुई थी। इसके साथ ही 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली थीं जिसके कारण जान माल का नुकसान हुआ था।

जून

8 जून : मुर्शिदाबाद, हुगली, बांकुड़ा, नदिया, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर में आकाशीय बिजली गिरने से 27 लोगों की मौत हो गई थी।

11 जून : ममता बनर्जी की मौजूदगी में उनके पूर्व सहयोगी मुकुल रॉय ने 3 साल बाद भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस में वापसी कर ली थी।

15 जून : पूर्व अभिनेत्री स्वातिलेखा सेनगुप्ता का 75 साल की आयु में निधन

जुलाई

2 जुलाई : विधानसभा सत्र की शुरुआत।

2 जुलाई : कलकत्ता उच्च न्यायालय ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा से निपटने में राज्य सरकार की भूमिका पर असंतोष व्यक्त किया।

19 जुलाई : बांकुड़ा के एक अंग्रेजी माध्यम के स्कूल में बच्चों की तस्करी के आरोप में एक स्कूल के प्रिंसिपल सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया।

22 जुलाई : प्राकृतिक संसाधनों को बचाने पर जोर। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में बालू खनन नीति लाने की घोषणा की।

23 जुलाई : रुमाना सुल्ताना राज्य सरकार की कन्याश्री परियोजना की ब्रांड एंबेसडर बनीं। मुर्शिदाबाद के जिलाधिकारी ने हायर सेकेंडरी में रूमाना के सर्वाधिक अंक प्राप्त करने के बाद यह घोषणा की।

23 जुलाई : तृणमूल सांसद शांतनु सेन को मौजूदा मानसून सत्र में संसद में कागजातों को फाड़ने के आरोप में निलंबित कर दिया गया।

31 जुलाई : राज्य में उत्शश्री पोर्टल का शुभारंभ। इससे शिक्षक तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। शिक्षा मंत्री ने उद्घाटन किया।

अगस्त

2 अगस्त : राज्य सरकार ने कोरोना की आगामी तीसरी लहर के मद्देनजर आजीवन कारावास की सजा काट रहे 63 कैदियों को रिहा करने का फैसला किया।

2 अगस्त : तृणमूल ने जौहर सरकार को राज्यसभा भेजा।

3 अगस्त : राज्य के उद्योग हितैषी वातावरण को मान्यता। बंगाल को 4 स्कॉच पुरस्कार। उद्योग साथी के लिए बंगाल सरकार को मिला प्लैटिनम अवार्ड।

9 अगस्त : कोलकाता में पर्यावरण के अनुकूल सीएनजी बस सेवा शुरू।

18 अगस्त : सुष्मिता देब कांग्रेस छोड़कर तृणमूल में शामिल हुईं।

26 अगस्त : मां बनीं एमपी-एक्ट्रेस नुसरत जहां।

29 अगस्त : शिखा मित्रा तृणमूल में शामिल हुईं।

31 अगस्त : राज्य पुलिस के शीर्ष पद पर नई नियुक्तियां। नए डीजी आईपीएस मनोज मालवीय बने।

सितंबर

1 सितंबर : नारद स्टिंग ऑपरेशन में गिरफ्तारी से पूरे देश में कोहराम मच गया। इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राज्य के 2 मंत्रियों फिरहाद हकीम और सुब्रत मुखर्जी (अब दिवंगत) समेत पांच लोगों के खिलाफ चार्जशीट पेश की।

4 सितंबर : चुनाव आयोग ने भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव की घोषणा की।

13 सितंबर : रोमा झावंर कांड में 16 साल बाद सजा, चार लोगों को उम्रकैद की सजा

15 सितंबर : पश्चिम मिदनापुर में नारायणगढ़ में टॉर्नेडो का कहर। सैकड़ों घर तबाह हो गए।

18 सितंबर : बाबुल सुप्रिया तृणमूल में शामिल हुए।

20 सितंबर : दिलीप घोष को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया गया। नए अध्यक्ष सुकांत मजूमदार बने।

21 सितंबर : साढ़े चार साल बाद फास्ट ट्रैक कोर्ट ने पुरुलिया में सुई चुभा कर बच्चे की हत्या के मामले में सजा सुनाई। बच्चे की हत्या के आरोप में जज ने मां और उसके प्रेमी को मौत की सजा सुनाई।

24 सितंबर : निर्दोष माओवादी नेता तेलुगू दीपक बरी। देशद्रोह के आरोपों को खारिज किया।

26 सितंबर : कोयला तस्करी में पहली गिरफ्तारी। गिरफ्तार किए गए लाला के करीब चार व्यापारी।

29 सितंबर : गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुइजिन्हो फलेरियो तृणमूल में शामिल हुए।

29 सितंबर : उत्तर कोलकाता के अहिरीटोला में एक जीर्ण-शीर्ण घर के ढहने से दो साल के बच्चे और एक वयस्क की दर्दनाक मौत।

30 सितंबर : बड़ाबाजार में पुराना मकान गिरा।

30 सितंबर : भवानीपुर उपचुनाव के लिए मतदान।

अक्टूबर

1 अक्टूबर : कलकत्ता उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल और न्यायमूर्ति राजर्षि भारद्वाज की खंडपीठ ने पूजा पंडालों में प्रवेश पर रोक लगाई।

3 अक्टूबर : ममता बनर्जी ने भवानीपुर में 56 हजार से अधिक वोटों से जीत के साथ 10 साल पहले की अपने जीत के अंतर को पीछे छोड़ दिया।

4 अक्टूबर : बड़ाबाजार में भीषण आग।

14 अक्टूबर : बांग्लादेश में दुर्गा प्रतिमा पर हुए हमले का विरोध।

18 अक्टूबर : भाजपा ने बांग्लादेश में हिंदुओं के उत्पीड़न के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

18 अक्टूबर : सुबीर चाकी (62) और उनके चालक राबिन मंडल (65) कोलकाता के कनकुलिया के घर में नौकरानी के बेटे के हाथों मौत के घाट उतार दिए गए।

31 अक्टूबर : राजीव बनर्जी पार्टी छोड़ने के 9 महीने बाद तृणमूल में लौटे। उन्होंने पार्टी छोड़ने के लिए सार्वजनिक रूप से माफी भी मांगी।

नवंबर

2 नवंबर : उपचुनाव में तृणमूल ने चारों सीटों पर जीत हासिल की। अभिषेक ने कार्यकर्ताओं को संयम बरतने के निर्देश दिए। ममता ने बधाई दी।

4 नवंबर : कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति राजशेखर महंथा और न्यायमूर्ति केसांग डोमा भूटिया की अवकाश पीठ ने प्रशासन को कालीपूजा और जगाधात्री पूजा में भीड़ को रोकने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया।

9 नवंबर : राज्य मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल। राज्य की नई वित्त मंत्री मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बनीं। अमित मित्रा बने वित्तीय सलाहकार।

14 नवंबर : राज्य ने फिर से ”स्कॉच” पुरस्कार प्राप्त किया। इस बार वन विभाग के काम को पहचान मिली। मैंग्रोव को बचाने की पहल को सम्मानित किया गया।

18 नवंबर : डेढ़ साल से अधिक समय तक बंद रहने के बाद स्कूल फिर से खुले।

18 नवंबर : राज्य विधानसभा ने सीमावर्ती राज्यों में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के केंद्रीय निर्णय के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया।

20 नवंबर : घर में बाल शोषण, तृणमूल के पूर्व डिप्टी मेयर की बहू समेत 10 गिरफ्तार

दिसंबर

2 दिसंबर : एसएससी ग्रुप डी में भर्ती भ्रष्टाचार के खिलाफ याचिका। हाईकोर्ट ने दस्तावेजों की जांच का निर्देश दिया। 350 कर्मचारियों का वेतन बंद करने के आदेश।

15 दिसंबर : बंगाल की दुर्गापूजा को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता। यूनेस्को ने विश्व धरोहर घोषित किया।

19 दिसंबर : कोलकाता नगरपालिका चुनाव।

20 दिसंबर : बंगाल में कोविड टीकाकरण में रिकॉर्ड। 10 करोड़ लोगों को टीका लगाने का दावा।

21 दिसंबर : कोलकाता नगर निगम चुनाव का परिणाम घोषित। तृणमूल ने 134 वार्डों में जीत दर्ज की जबकि बाकी 10 वार्डो में भाजपा, माकपा, कांग्रेस और निर्दलीय उम्मीदवार सिमट गए।

21 दिसंबर : कवि-साहित्यकार शरतकुमार मुखर्जी का निधन। बंगाली कविता में एक युग का अंत। बंगाल के साहित्य जगत में शोक की छाया।

21 दिसंबर : हल्दिया तेल रिफाइनरी के एक टावर में भीषण आग। तीन लोगों की मौत हो गई।

25 दिसंबर : बंगाल में भाजपा के जिला स्तर पर बड़ा बदलाव। 30 जिलाध्यक्षों को हटाया गया। मतुआ समुदाय के पांच विधायकों ने राज्य कमेटी में तरजीह नहीं दिए जाने से नाराज होकर पार्टी का व्हाट्सएप ग्रुप छोड़ा है।

27 दिसंबर : बिधाननगर, आसनसोल, सिलीगुड़ी और चंदननगर नगर निगम में चुनाव की घोषणा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here