इतिहास के पन्नों मेंः 06 मई – कसाब को मौत की सजा का ऐलान

160

26 नवंबर 2008, जब पाकिस्तान से आए जैश-ए- मुहम्मद के 10 आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में करीब तीन दिनों तक खून की होली खेली। शिवाजी टर्मिनल, होटल ताज, ओबेराय ट्राइडेंट होटल और नरीमन हाउस में इन आतंकियों ने लाशों के ढेर लगा दिये।

Advertisement

तीन दिनों बाद जब इन आतंकियों के खिलाफ शुरू किया गया ऑपरेशन खत्म हुआ तो शहीद तुकाराम ओम्बले और 14 अन्य पुलिसकर्मियों के साथ 166 लोगों की मौत हो चुकी थी। हमला करने वाले दस आतंकियों में से 9 को सुरक्षाबलों ने मार गिराया। सिर्फ एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया- अजमल कसाब।

यह वही अजमल कसाब था जिसने एक और आतंकी के साथ छत्रपति शिवाजी रेलवे टर्मिनल पर हमला किया था। दोनों हमलावरों ने एके47 से 15 मिनट की गोलीबारी में 52 निर्दोष लोगों की हत्या कर दी।

पाकिस्तान के रहने वाले इस खौफनाक आतंकी को विशेष अदालत ने 6 मई 2010 को फांसी की सजा सुनाई। 5 नवंबर 2012 को राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका खारिज की और 21 नवंबर 2012 को सुबह साढ़े सात बजे इस आतंकी को फांसी दी गई।

अन्य अहम घटनाएंः

1944ः पुणे के आगा खान पैलेस से गांधीजी रिहा, यह उनके जीवन की आखिरी जेलयात्रा थी।

1946ः विधिवेत्ता और गांधीजी के विश्वस्त सहयोगी भूलाभाई देसाई का निधन।

1953ः पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर का जन्म।

1964ः भारत के सुप्रसिद्ध तैराक खजान सिंह का जन्म।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here