कोलकाता अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के आयोजन पर संशय

174

कोलकाता : पिछले कुछ दिनों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भविष्य के कई आयोजनों पर संशय बनता जा रहा है। कोलकाता में भी ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसे देखते हुए कलकत्ता अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले के आयोजन को लेकर संशय उत्पन्न हो गया है। हालांकि, पुस्तक मेले के आयोजक गिल्ड के अध्यक्ष त्रिदीब चटर्जी ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने पूरी तैयारी कर रखी है। स्टॉल व टेबल बुकिंग लगभग खत्म हो चुकी है। उन्होंने बताया कि बांग्लादेश में भी इस बार की थीम के अनुसार विभिन्न समारोहों की तैयारियां चल रही हैं।

Advertisement

दरअसल, पिछले साल कोई पुस्तक मेला आयोजित न होने से मायूस सभी प्रकाशकों को कलकत्ता पुस्तक मेले का इंतजार था लेकिन ओमिक्रॉन के संकट ने एक बार फिर किताबों की दुकानों और प्रकाशकों के लिए चिंता की स्थिति बना दी है। उन्हें डर है कि कहीं कोरोना की वजह से इस साल भी पुस्तक मेला निरस्त न हो जाये।

उल्लेखनीय है कि कोरोना के मामले कम होने और अधिकांश नागरिकों के टीकाकरण के बाद पुस्तक मेला के आयोजन की उम्मीद बंधी है। यह मेला 31 जनवरी से 13 फरवरी तक आयोजित होना है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here