कोलकाता : कोलकाता नगर निगम (केएमसी) में रविवार की सुबह 7:30 बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। वैसे तो शुरुआती एक घंटे में चुनाव शांतिपूर्वक है लेकिन आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है।

Advertisement

चेतला के वार्ड नंबर 82 में आरोप लगा है कि वाममोर्चा के पोलिंग एजेंट को पीठासीन अधिकारी ने बैठने नहीं दिया। सीपीआई उम्मीदवार पारोमिता दासगुप्ता ने आरोप लगाया कि मतदान केंद्र के अंतर्गत रहने वाले व्यक्ति को ही पोलिंग एजेंट बनाया जा सकता है।

इसी मतदान केंद्र के सामने राज्य के परिवहन मंत्री और पूर्व मेयर फिरहाद हकीम का बैनर लगा था, जिसे पुलिस के निर्देश पर तृणमूल कार्यकर्ताओं ने हटा दिया है।

गरिया के एजी नस्कर हाईस्कूल के मतदान केंद्र में माकपा के पोलिंग एजेंट को नहीं बैठने दिया गया। 110 नंबर वार्ड में पड़ने वाले इस इलाके में माकपा उम्मीदवार तनुश्री मंडल ने बाद में पीठासीन अधिकारी के साथ तीखी बहस हुई जिसके बाद पोलिंग एजेंट को बैठने की अनुमति दी गई।

36 नंबर वार्ड में सियालदह टाकी स्कूल के मतदान केंद्र पर भी कांग्रेस के पोलिंग एजेंट को नहीं घुसने दिया गया और उसके साथ मारपीट की शिकायत है। आरोप है कि मतदान केंद्र के बाहर खड़े तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के पोलिंग एजेंट को पीटा है।

इसके अलावा बेलियाघाटा में बने खन्ना हाई स्कूल के मतदान केंद्र में सीसीटीवी कैमरे को ढंक कर रख दिया गया था। तारातला के पास गड़ागाछा इलाके में अधिकांश मतदान केंद्र में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं जिसकी वजह से हाईकोर्ट के आदेश की अवहेलना का आरोप भाजपा ने लगाया है। इन आरोपों की शिकायत चुनाव आयोग से की जा रही है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here