फ़ाइल फ़ोटो

हावड़ा : एक तृणमूल कार्यकर्ता का शव उसके घर से के पास स्थित एक तालाब से बरामद किया गया है। युवक की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत से हावड़ा में हड़कंप मच गया। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक मृतक का नाम लाल्टू मिद्या है। लाल्टू (33) पेशे से टोटो ड्राइवर था।

Advertisement

स्थानीय लोगों के मुताबिक, वह एक सक्रिय तृणमूल कार्यकर्ता था। स्थानीय लोगों ने रविवार की सुबह उसका शव आमता के चंद्रपुर पंचायत के चतरा मोल्लापाड़ा इलाके में घर के पास स्थित तालाब से पाया।

पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक लाल्टू शनिवार की रात करीब आठ बजे घर लौटा। इसके बाद वह फिर बाहर चला गया। वह अपने दोस्तों के साथ घर से कुछ दूर ठंड के लिए आग जला रहा था। लेकिन रात में वह घर नहीं लौटा। रविवार की सुबह स्थानीय लोगों को उसका शव घर से सौ मीटर दूर तालाब में बहता मिला।

परिवार का आरोप है कि लालू की हत्या की गई है। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके शरीर पर चोट के निशान हैं। मृतक की पत्नी रूपा बेगम ने कहा कि मेरे पति के कई दुश्मन थे, विपक्षी दल ने उसे मार डाला।

पुलिस ने तृणमूल कार्यकर्ता के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए उलुबेरिया अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया। उधर, घटना को लेकर तृणमूल कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने विरोध शुरू कर दिया है। रविवार की दोपहर करीब आधे घंटे तक उन्होंने रानीहाटी-आमता मार्ग को जाम कर दिया। बाद में पुलिस के आश्वासन पर जाम हटाया गया।

तृणमूल नेता शेख रज्जब अली ने कहा कि इस घटना के पीछे माकपा का हाथ है। हालांकि, वाम नेतृत्व ने आरोपों को खारिज कर दिया। स्थानीय माकपा नेता सबीरुद्दीन मोल्ला ने आरोपों के संदर्भ में कहा कि यह तृणमूल गुटीय संघर्ष का मामला है। पंचायत चुनाव सामने है, ऐसे में वे असमंजस में हैं कि उम्मीदवार कौन होगा। हालांकि अमता थाने की पुलिस ने अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here