केएमसी की 134 सीटों पर जीती तृणमूल, भाजपा 3 पर सिमटी

103

कोलकाता : कोलकाता नगर निगम (केएमसी) चुनाव में भी राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस प्रचंड जीत दर्ज कर चुकी है। कोलकाता के 144 वार्डों में से 134 पर पार्टी ने जीत हासिल कर ली है जबकि बाकी 10 सीटों में से तीन पर भाजपा, दो पर माकपा, दो पर कांग्रेस और बाकी तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों की जीत हुई है।

Advertisement

खास बात यह है कि कोलकाता के 144 वार्डों में 16 बोरों हैं और औसतन प्रत्येक बोरों में आठ वार्ड हैं। प्रत्येक बोरो के अधिकतर वार्ड में तृणमूल कांग्रेस जीती है। इस वजह से सभी बोरो पर भी सत्तारूढ़ पार्टी का ही कब्जा रहेगा। निगम क्षेत्रों में बेहतर सेवाओं के लिए औसतन आठ वार्डों को मिलाकर एक बोरो बनाया गया है, ताकि समग्र योजनाओं को एक साथ लागू किया जा सके। प्रत्येक बोरो का एक चेयरमैन भी चुना जाता है। अधिकतर वार्डों में सत्तारूढ़ पार्टी की जीत की वजह से स्पष्ट हो चला है कि प्रत्येक बोरों में तृणमूल कांग्रेस का ही चेयरमैन होगा।

चुनाव आयोग की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी 22, 23 और 50 नंबर वार्ड में जीत दर्ज कर चुकी है, जबकि कांग्रेस 45 और 137 नंबर वार्ड में जीती है। वाममोर्चा के उम्मीदवार 92 और 103 नंबर वार्ड में जीते हैं जबकि वार्ड नंबर 43, 135 और 141 में निर्दलीय उम्मीदवारों की जीत हुई है। बाकी सभी वार्डों में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार जीते हैं।

इस जीत के बाद सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता सुबह से ही जश्न मना रहे हैं। पूरे महानगर में जगह-जगह पार्टी कार्यकर्ताओं ने झंडे बैनर पोस्टर लेकर रैली निकाली है, एक दूसरे को अबीर लगाया है, मिठाइयां खिलाई है और गाने बजा कर झूम रहे हैं।

चुनाव हार गई हैं सुब्रत मुखर्जी की बहन

खास बात यह है कि वार्ड नंबर 68 से निर्दलीय चुनाव लड़ने वाली और दिवंगत पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी की बहन तनिमा चटर्जी चुनाव हार गई हैं। इसके अलावा पार्टी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले तृणमूल नेता सच्चिदानंद बंदोपाध्याय भी 72 नंबर वार्ड से चुनाव हार गए हैं। इन दोनों को तृणमूल कांग्रेस ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की वजह से पार्टी से निकाल दिया था।

कोलकाता के 22 नंबर वार्ड से पूर्व मेयर मीना देवी पुरोहित छठवीं बार जीत दर्ज करने में सफल हुई हैं। इसी तरह 23 नंबर वार्ड से भी भाजपा उम्मीदवार विजय ओझा जीत गए हैं। 45 नंबर वार्ड से कांग्रेस नेता संतोष पाठक की जीत हुई है।

विपक्ष को सिर झुका कर हार स्वीकार करना चाहिए : फिरहाद

तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने विनम्रता दिखाई है। दूसरी ओर विपक्ष ने चुनाव के दौरान हिंसा और वोट लूटने का आरोप लगाया है। इस पर पूर्व मेयर और राज्य के परिवहन मंत्री फिरहाद हकीम ने प्रतिक्रिया दी है। चुनाव में पार्टी की जीत स्पष्ट होने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। इस दौरान मीडिया से मुखातिब होकर उन्होंने कहा कि विपक्ष को जनादेश का सम्मान करना चाहिए।

अगर हार हुई है तो सिर झुकाकर हार स्वीकार कर लेना चाहिए। अगर ऐसा नहीं किया जा रहा है तो यह जनादेश का अपमान होगा। उन्होंने कहा कि पहले कई चुनावों में तृणमूल कांग्रेस हारती रही है। हमने कभी कई बार ईवीएम और अन्य समस्याओं पर सवाल जरूर खड़ा किया लेकिन जनादेश को हमेशा स्वीकार किया।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here