पूर्व मेदिनीपुर : पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में तृणमूल शासित खाप पंचायत की गुंडागर्दी देखने को मिली है। इस पंचायत में भाजपा करने वाले परिवारों के सामाजिक बहिष्कार का फरमान जारी किया है। घटना पूर्व मेदिनीपुर के महिषादल के रंगीवासन गांव की है। दो परिवारों के मुताबिक करीब सात-आठ साल से उनका सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है। इलाके में पोस्टर लगे हैं। उस पोस्टर पर लिखा है, अगर कोई भी उन दोनों परिवारों के संपर्क में रहा तो उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। पोस्टरों पर तो यहां तक लिखा है कि गांव में पूजा हो तो उन दोनों घरों में प्रसाद लेकर कोई न जाए। अगर कोई और जाएगा तो उसे भी महिषादल पल्ली समिति से निकाल दिया जाएगा।

Advertisement

शिकायतकर्ता परिवारों का दावा है कि वे भाजपा के हैं और पल्ली कमेटी के सदस्य तृणमूल कांग्रेस के हैं इसलिए उनका सामाजिक बहिष्कार किया गया है। पीड़ित परिवार पहले ही महिषादल थाने की पुलिस से गुहार लगा चुके हैं। पीड़ित परिवार के एक सदस्य स्वरूप घड़ाई ने कहा कि आज सुबह मैंने एक पोस्टर देखा, जिसमें मेरे और गुरुपद घड़ाई के सामाजिक बहिष्कार की बात लिखी है। पोस्टर में यह भी लिखा है कि अगर कोई ग्रामीण प्रसाद देता है तो उसका भी सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा क्योंकि हम भाजपा करते हैं। उन्होंने हम पर कई बार जुर्माना भी लगाया है।

महिषादल के तृणमूल विधायक हीरक चक्रवर्ती ने कहा कि पल्ली कमेटी ने क्या किया? जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएगा, इस तरह के ड्रामे और भी देखने को मिलेंगे। यह सिर्फ मीडिया के सामने आने की साजिश है। असली दोषियों की पहचान कर मामले की पूरी जांच होनी चाहिए।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here