आपसी गुट विवाद को लेकर कैनिंग में मारे गए तृणमूल नेता : दिलीप घोष

111
Dilip Ghosh

कोलकाता : कैनिंग में युवा तृणमूल नेता की हत्या को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि यह तृणमूल कांग्रेस की यह आपसी गुटबाजी का नतीजा है। दिलीप घोष रविवार की सुबह न्यूटाउन इको पार्क में प्रातः भ्रमण पर निकले थे। इस दौरान उन्होंने राज्य की राजनीति के विभिन्न पहलुओं के बारे में पत्रकारों से बात की।

Advertisement

दिलीप का दावा है कि कैनिंग में कोई विरोधी नहीं है और तृणमूल कांग्रेस में गोली चलना कोई नई बात नहीं है। उनमें सभी स्तर के नेता हिस्सा, बँटवारा या कटमनी के मुद्दे के फ़ैसले कमोबेश गोली से ही किये जाते हैं, न पुलिस है न प्रशासन कुछ है। इस पार्टी में किसी का कोई मतलब नहीं है। पश्चिम बंगाल में हिंसा की राजनीति चल रही है। सभी अपराधी तृणमूल कांग्रेस में प्रवेश कर चुके हैं और हिंसा पूरे समाज में फैल रही है।

त्रिपुरा में तृणमूल कांग्रेस की एक सभा पर हमले के आरोप के बारे में दिलीप घोष ने कहा कि उन्हें वहां कोई समस्या नहीं दिखती। दिलीप का दावा है कि यहां तो तृणमूल कांग्रेस चारों तरफ समस्या पैदा कर रही है और भारतीय जनता पार्टी को सभा करने नहीं देते। उन्होंने कहा कि यहां माइक का तार काट दिया जाता है, त्रिपुरा में तृणमूल कांग्रेस को कोई नहीं पूछता। वे चार लोग सड़क के किनारे बैठकर गाना गा रहे थे। कौन देख सकता है, कौन सुन सकता है, कौन जानता है। उन्हें इतना भाव देने की जरूरत नहीं है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here