कोलकाता : सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल राज्यपाल डॉक्टर सी वी आनंद बोस का पंचायत चुनाव प्रचार के दौरान हिंसा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करना रास नहीं आया। पार्टी ने राज्यपाल के खिलाफ राज्य चुनाव आयोग को एक लिखित पत्र सौंपा है। उन पर चुनाव आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया है।

Advertisement

पार्टी के राज्य अध्यक्ष सुब्रत बख्सी ने इस पत्र में राज्यपाल की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़ा किया है। इसमें कहा गया है कि राज्यपाल चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप कर रहे हैं। दौरे के दौरान सरकारी गेस्ट हाउसों में बैठकर भाजपा और अन्य विपक्षी पार्टियों के कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं। यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। राजभवन में उन्होंने कंट्रोल रूम भी खोला है। यह पूरी तरह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।

राज्यपाल ने बासंती और कैनिंग में हिंसा प्रभावित तृणमूल के कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात कर चुनाव आयोग को 48 घंटे का समय दिया है। उन्होंने कहा है कि चुनाव आयोग और पुलिस प्रशासन नियमानुसार काम नहीं कर रहे हैं। कोर्ट के आदेश का भी अनुपालन नहीं हो रहा है। इसलिए 48 घंटे का समय दे रहा हूं। इसके बाद आवश्यक कदम उठाएं जाएंगे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here