• तपते सूरज के सबसे करीब होकर भी गरम कपड़ों में आएंगे नजर

भोपाल/कोलकाता : सौर मंडल में अकसर खगोलीय घटनाएं होती रहती हैं। इनमें से कई घटनाएं रोचक भी होती हैं। यह तो सभी जानते हैं कि पृथ्वी एक साल में सूर्य की परिक्रमा पूरी करती है। पृथ्वी अंडाकार पथ पर सूरज का चक्कर लगाती है। इस दौरान पृथ्वी साल में एक बार सूर्य के सबसे करीब होती है। नये साल 2022 में आज मंगलवार को दोपहर में 12:22 ऐसी ही घड़ी आने वाली है, जब हम इस साल में तपते सूर्य के सबसे करीब होंगे। हालांकि, सूरज के पास होने के बाद भी ठंड से बचने के लिए गरम कपड़ों में ही नजर आएंगे।

Advertisement

भोपाल की नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार, 04 जनवरी को नये साल 2022 में सूर्य के चारों ओर अंडाकार पथ में परिक्रमा करते हुये पृथ्वी साल के सबसे नजदीक बिंदु पर होगी। दोपहर 12 बजकर 22 मिनट पर दोनों के बीच यह दूरी सिमटकर 14 करोड़ 71 लाख 5 हजार 52 किलोमीटर रह जायेगी।

उन्होंने बताया कि पृथ्वी साल में एक बार सूरज के सबसे पास होती है। खगोल विज्ञान में इसे पेरीहिलियन कहते हैं। इसी तरह पृथ्वी साल में एक बार सूर्य से सर्वाधिक दूरी पर होती है। इस साल 04 जुलाई को पृथ्वी सूर्य से सबसे अधिक दूरी पर पहुंच जाएगी। इस दौरान जब ये एक-दूसरे से दूर होंगे तो यह दूरी 15 करोड़ 20 लाख 98 हजार 4 सौ 55 किलोमीटर होगी। इस घटना को अफीलियन कहते हैं।

सारिका ने बताया, इसमें रोचक बात यह है कि हमें सूरज के सबसे पास रहते हुए ठंड लगती है और अधिक दूरी पर होते हैं तो गर्मी लगती है। उन्होंने बताया कि मौसम में गर्मी या ठंड का होना पृथ्वी के अपने अक्ष पर झुके होकर घूमने के कारण होता है। झुकाव के कारण किसी समय पृथ्वी के जिस भाग पर सूर्य की किरणें सीधी पड़ रही होती है, वहां गर्मी पड़ती है और जहां किरणें तिरछी पड़ती है वहां ठंड महसूस होती है। इसके साथ ही वायु दाब, रेगिस्तान से आने वाली हवाएं आदि तापमान को प्रभावित करते हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here