कोलकाता : राज्य स्तरीय पात्रता परीक्षा या सेट परीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। रविवार की सुबह से ही जिले में परीक्षार्थियों की भीड़ नजर आने लगी थी। लेकिन पता चला कि वेसल कर्मियों की हड़ताल के कारण दक्षिण 24 परगना के कचुबेरिया में कई परीक्षार्थी फंसे हुए हैं।

Advertisement

सूत्रों के मुताबिक अटके कुछ अभ्यर्थियों को जादवपुर, डायमंड हार्बर सहित विभिन्न कॉलेजों में परीक्षा देनी थी। परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में सुबह नौ बजे तक प्रवेश करने का निर्देश था। रविवार की सुबह साढ़े पांच बजे से वेसल सेवा शुरू होनी थी। कई परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र जाने के लिए सुबह वेसल घाट पहुंचे लेकिन, उन्हें हड़ताल की जानकारी नहीं थी। वेतन वृद्धि सहित कई मांगों को लेकर हड़ताल पर जा रहे वेसल के अस्थायी कर्मचारियों की तलाश की गई तो पता चला कि वे आज काम नहीं करेंगे। उसके बाद कई अभ्यर्थियों ने मदद के लिए प्रशासन के अधिकारियों को फोन किया। अंत में करीब सात बजे कचुबेरिया से जहाज चल पड़ा। इसके बाद परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र पहुंच पाए।

उधर, भूतल परिवाहन निगम के अधिकारी पीड़ित कर्मियों के साथ बैठक करने वाले हैं। वहां सुंदरवन विकास मंत्री बंकिम हाजरा भी होंगे। गंगा सागर मेले के लिए सभी सेवाएं रविवार से आधिकारिक तौर पर शुरू होने वाली हैं। प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं। इनमें वेसल कर्मियों की इस हड़ताल से जिला प्रशासन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल कॉलेज सर्विस कमीशन ने राज्य स्तरीय पात्रता परीक्षा या सेट परीक्षा के लिए जोर-शोर से तैयारी की थी, लेकिन वेसल कर्मियों की हड़ताल के कारण कई परीक्षार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here