– चेयरमैन ने माना, इस मामले में त्वरित कार्रवाई से निपटने में हम विफल रहे

Advertisement

नयी दिल्ली/मुंबई : एयर इंडिया की फ्लाइट में महिला से बदसलूकी का मामला तूल पकड़ने के बाद टाटा समूह ने चुप्पी तोड़ी है। समूह के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा कि उड़ान एआई 102 की घटना एयर इंडिया में मेरे और मेरे सहयोगियों के लिए व्यक्तिगत पीड़ा का विषय रही है। उन्होंने माना कि इस मामले में एयर इंडिया की प्रतिक्रिया बहुत तेज होनी चाहिए थी।

चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने रविवार को 26 नवंबर, 2022 को न्यूयॉर्क-दिल्ली के बीच संचालित एआई-102 में हुई घटना के मामले में प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने स्वीकार किया कि शराब के नशे में धुत एक यात्री के एक महिला सहयात्री पर कथित रूप से पेशाब करने की घटना पर एयर इंडिया की प्रतिक्रिया ‘ज्यादा तेज’ होनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि इस मामले में जिस तरह की त्वरित कार्रवाई होनी चाहिए थी, उससे निपटने में हम विफल रहे। टाटा समूह और एयर इंडिया अपने यात्रियों और चालक दल की सुरक्षा और भलाई के लिए पूरे विश्वास के साथ खड़े हैं। हम ऐसी अनियंत्रित किसी भी घटना को रोकने के लिए हर प्रक्रिया की समीक्षा करके सुधार करेंगे।

इससे एक दिन पहले एयर इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कैंपबेल विल्सन ने इस पूरे मामले पर माफी मांगी थी। विल्सन ने चालक दल के चार सदस्यों और एक पायलट के खिलाफ हुई कार्रवाई के बारे में अवगत कराया था। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि एयरलाइन उड़ानों में शराब परोसने की नीति की भी समीक्षा कर रही है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल 26 नवंबर, 2022 को एयर इंडिया की एक अंतरराष्ट्रीय उड़ान के दौरान यह घटना हुई। एयर इंडिया विमान की इस घटना के सामने आने के बाद नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने भी इस बारे में टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयरलाइन से जवाब मांगा है। हालांकि, इस मामले के आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जो 14 दिन की न्यायिक हिरासत में है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here