कोलकाता प्रेस क्लब के साथ रहा है सुब्रत मुखर्जी का गहरा नाता

224
Subrato Mukherjee
सुब्रत मुखर्जी (फ़ाइल फ़ोटो)

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के दिवंगत पंचायत मंत्री और वरिष्ठ तृणमूल नेता सुब्रत मुखर्जी का कोलकाता प्रेस क्लब के साथ पांच दशक पुराना संबंध रहा है। क्लब के विभिन्न आयोजनों में नियमित रूप से शामिल होने वाले सुब्रत का कई पत्रकारों के साथ भी मैत्रीपूर्ण संबंध थे। मृदुभाषी, हँसी-ख़ुशी स्वभाव वाले सुब्रत मुखर्जी को कोलकाता प्रेस क्लब और पत्रकारों के साथ आत्मीयता कायम करने में अधिक वक्त नहीं लगा था। यही वजह है कि उनके निधन से क्लब परिसर में गमगीन माहौल है। उनके साथ लगाव का ही नतीजा था कि प्रेस क्लब, कोलकाता ने सुब्रत मुखर्जी को क्लब का सदस्य बनाकर उन्हें सम्मानित किया था।

Advertisement

पांच दशक पहले 23 मार्च 1972 को तत्कालीन मुख्यमंत्री सिद्धार्थ शंकर रॉय के साथ उनके मंत्रिमंडल सहयोगी सुब्रत मुखर्जी का प्रेस क्लब में पदार्पण हुआ था और उसके बाद से उनका क्लब में नियमित आगमन होता रहा। दिवंगत केंद्रीय मंत्री तपन सिकदर और ममता बनर्जी 15 अगस्त 2001 को क्लब में आए थे। उस दिन तीन वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित किया गया था। सुब्रत मुखर्जी ने कोलकाता नगर निगम में लंबे समय से पत्रकारिता करने वाले ललित भर को सम्मानित किया था। उनके साथ तत्कालीन मेयर परिषद के सदस्य राजीव देव भी थे।

22 जुलाई 2003 को क्लब के जीर्णोद्धार के बाद सुब्रत मुखर्जी और माला रॉय आए थे। उस दिन तीन एथलीट चुन्नी गोस्वामी, सुब्रत भट्टाचार्य और पीके बनर्जी को मुखर्जी और रॉय ने सम्मानित किया था। बुद्धदेव भट्टाचार्य और सुब्रत मुखर्जी उसी साल नौ सितंबर को शारदोत्सव में आए थे और कैरम खेल में हिस्सा भी लिया था।

26 जुलाई, 2003 को बुद्धदेव भट्टाचार्य, तपन सिकदर के साथ कलकत्ता नगर के तत्कालीन मेयर सुब्रत मुखर्जी क्लब सभागार के स्थापना दिवस के अवसर पर भी उपस्थित थे।

11 जनवरी 2005 को क्लब की स्वर्ण जयंती के उद्घाटन के अवसर पर सुब्रत मुखर्जी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ कोलकाता के मेयर के रूप में मंच पर थे। उसी साल सुब्रत मुखर्जी 13 जून को भी क्लब आये थे। सुब्रत मुखर्जी और सिद्दीकुल्लाह चौधरी 30 जून 2016 को इफ्तार के लिए क्लब में मौजूद थे।

कोलकाता प्रेस क्लब के अध्यक्ष स्नेहाशीष सुर और सचिव किंशुक प्रमाणिक ने सुब्रत मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। 

इसके अलावा सुब्रत मुखर्जी ने अलग-अलग समय पर प्रेस क्लब की तरफ सहयोग का हाथ बढ़ाया था। क्लब के अधिकारियों का कहना है कि उनके जाने से क्लब ने एक बहुत करीबी रिश्तेदार खो दिया है। उनके निधन पर क्लब की ओर से बयान जारी कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे सुब्रत मुखर्जी का दीपावली की रात कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में निधन हो गया था।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here