‘मुस्कान’ के नये प्रोजेक्ट से भारतीय संस्कृति एवं इसकी विरासत की जानकारी पा रहे छात्र

289

कोलकाता : प्रोजेक्ट ‘मुस्कान’ के तहत प्रभा खेतान फाउंडेशन और एजुकेशन फॉर ऑल ट्रस्ट एवं श्री सीमेंट की तरफ से संयुक्त तत्वाधान में पूरे भारत में हजारों छात्रों को लेकर एक परियोजना की शुरुआत की गयी है। इसके तहत कहानी सुनाना, नृत्य, संगीत, कठपुतली, रंगमंच और कला के रुप में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के जरिये भारतीय विरासत, साहित्य और संस्कृति के बारे में विस्तृत जानकारी देकर इसके प्रति बच्चों में जिज्ञासा उत्पन्न करायी जाएगी। इस परियोजना के जरिये जरूरतमंद बच्चों में पौष्टिक भोजन और बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाएं दी जायेगी।

Advertisement

प्रोजेक्ट मुस्कान एवं प्रभा खेतान फाउंडेशन के प्रमुख, सांस्कृतिकार एवं समाजसेवी संदीप भूतोरिया ने कहा, ‘भारतीय साहित्यिक और सांस्कृतिक जगत इतना विशाल है कि किसी भी पाठ्यक्रम के लिए इसे पूरी तरह से कवर करना असंभव है। हम, बच्चों और छात्रों के रूप में, हमारी समृद्ध भारतीय विरासत के कई पहलुओं से चूक गए हैं। प्रोजेक्ट मुस्कान इस अंतर को एक चंचल और मनोरंजक तरीके से बच्चों के मन में उतारने का एक प्रयास है।’

एच एम बांगड़ (प्रबंध निदेशक, श्री सीमेंट) ने कहा, ‘श्री सीमेंट ने इसके पहले पिछले कुछ वर्षों में अपनी सीएसआर पहल के तहत एक हिस्से की राशि महिला सशक्तिकरण, बुजुर्गों की मदद, शिक्षा और कौशल विकास के प्रसार, शहीदों के परिवार का समर्थन करने आदि के लिए खर्च कर कई पहल की शुरुआत की हैं। मुस्कान प्रोजेक्ट, छात्रों की मदद करने और हमारी समृद्ध भारतीय विरासत और संस्कृति के बारे में जागरूकता फैलाने का एक और शानदार अवसर है।’

सुमित्रा रे (छात्र कार्यक्रम सलाहकार, प्रभा खेतान फाउंडेशन) ने कहा, ‘मुस्कान प्रोजेक्ट, भारत की नई शिक्षा नीति के अनुरूप है और इसका उद्देश्य आधुनिक शैक्षणिक पाठ्यक्रम के अनुसार पाठ्य पुस्तकों से परे हमारी समृद्ध भारतीय विरासत को बढ़ावा देना और इसके प्रति छात्रों के मन में जिज्ञासा पैदा करना है।’

कोलकाता के ला मार्टिनियर फॉर बॉयज के कक्षा पांच के छात्र अन्नान्मय डागा ने कहा, ‘श्रीमती सुधा मूर्ति ने हमें दान का महत्व और सादगी की शक्ति के बारे में विस्तार से अवगत कराया। वह सादा जीवन और उच्च विचार के सिद्धांत पर जीती हैं। बहुत ही छोटे सत्र में उन्होंने हमें जीवन का एक महत्वपूर्ण सबक का ज्ञान दिया है।’

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here