ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

कोलकाता : एसएससी घोटाले की जांच के बीच नई शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू कर राज्य सरकार एक सकारात्मक संदेश देना चाहती है। करीब 2500 प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति के लिए अधिसूचना जारी करने के अलावा एसएससी ने कक्षा 9-10 और 11-12 के लिए नियम लगभग तैयार कर लिए हैं। गुरुवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में नियुक्ति को हरी झंडी मिलने की संभावना है।

Advertisement

एसएससी के सूत्रों के मुताबिक, आयोग सितंबर की शुरुआत में मुख्यमंत्री की अनुमति मिलने के बाद प्रधानाध्यापक पद पर नियुक्ति की अधिसूचना जारी करेगा। सूत्रों का दावा है कि राज्य के कानून विभाग ने पहले ही प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति के नियमों को मंजूरी दे दी है। स्कूल शिक्षा विभाग को नियुक्ति के लिए वित्त विभाग की मंजूरी भी मिल गई है। स्कूल सेवा आयोग गुरुवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में मंजूरी मिलने के बाद ही राज्य के स्कूलों में प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति के लिए अधिसूचना जारी करेगा।

वहीं उच्च न्यायालय को दी गई जानकारी के अनुसार नौवीं-दसवीं और ग्यारहवीं-बारहवीं में शिक्षकों के करीब 20 हजार पद रिक्त हैं। शिक्षा विभाग ने उन पदों पर नियुक्ति के लिए नए नियमों को लगभग अंतिम रूप दे दिया है। अगर इस नए नियम को कानून विभाग से मंजूरी मिल जाती है तो इसे जल्द ही मुख्यमंत्री के पास भेजा जाएगा। स्वाभाविक है कि यदि अगले सप्ताह प्रधानाध्यापक की वैकेंसी तय हो जाती है तो राज्य सरकार जल्द ही अधिसूचना जारी करने के साथ ही 9वीं-10वीं और 11वीं-12वीं कक्षाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू करेगी ।

आयोग के सूत्रों के अनुसार नियुक्ति के लिए नियमों में कई बदलाव किए जा रहे हैं। कुल 100 अंकों की परीक्षा होगी। इसमें से 90 अंक ओएमआर शीट में होंगे, 10 अंक साक्षात्कार के होंगे। पूरी लिखित परीक्षा ओएमआर शीट पर होगी। कैबिनेट की मंजूरी के बाद अधिसूचना जारी होने के बाद उम्मीदवारों की सुविधा के लिए प्रश्न पत्र पैटर्न क्या होगा इसकी जानकारी वेबसाइट पर दी जाएगी। लिखित परीक्षा के अलावा इंटरव्यू के नियमों में भी कई बदलाव किए जा रहे हैं। स्कूल सेवा आयोग के सूत्रों के अनुसार नई भर्ती के लिए लिखित और साक्षात्कार में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों की काउंसलिंग के नियमों में कई बदलाव किए जा रहे हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here