हावड़ा चाइल्ड होमकांड में मिनती अधिकारी का बेटा गिरफ्तार

114

हावड़ा : हावड़ा के श्रीराम ढांग रोड के होमकांड में पुलिस ने हावड़ा की पूर्व डिप्टी मेयर मिनती अधिकारी के बेटे को गिरफ़्तार किया है। सुमित अधिकारी को इस घटना में सीधे तौर पर शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। हावड़ा सिटी पुलिस ने डिप्टी मेयर के बेटे को गिरफ्तार किया था। सुमित की पत्नी समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इस कांड में सुमित अधिकारी की पत्नी गीताश्री अधिकारी और समाज कल्याण विभाग के एक उच्च पधादिकारी देव कुमार भट्टाचार्य शामिल थे। इस होम के एक बच्चे पर यौन शोषण और पैसे लेकर बच्चों को बेचने के कई आरोप सामने आए थे। इस सन्दर्भ में लिखित शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय में भी की गई थी। इसके बाद ही पुलिस प्रशासन ने इस मामले में छानबीन शुरू की। फिलहाल, पुलिस ने सरकार द्वारा स्वीकृत उस होम को सील कर दिया है। ज्ञात हो, इसी महीने में श्रीराम ढांग रोड पर सरकार द्वारा स्वीकृत एक होम के विरुद्ध बच्चों के साथ शारीरिक शोषण और बाल तस्करी के आरोप लगाए गए थे। घटना के सार्वजनिक होते ही इस कांड को लेकर राजनीति गरमा गयी। स्थानीय लोगों ने शिकायत की थी, सरकार द्वारा स्वीकृत होम के बच्चों को बेचा और प्रताड़ित किया जा रहा है। साथ ही इस होम की पहली दो मंजिलों पर बच्चों का घर और ऑफिस था जबकि तीसरे मंजिल में उठते ही नजारा कुछ अलग ही था। तीसरी मंजिल पर सुसज्जित बेडरूम और ड्राइंग रूम थे जो किसी पांच सितारा होटल से कम सुसज्जित नही थे। भोजन परोसने की काफी शानदार व्यवस्था मौजूद थी। हावड़ा सिटी पुलिस हावड़ा के मालीपाँचघड़ा थाना क्षेत्र में स्थित श्रीराम ढांग रोड पर बच्चों के लिए बने इस चार मंजिला के निजी घर के रहस्य से पर्दा उठा रही है। जांचकर्ता उन कारणों पर भी गौर कर रहे हैं कि, किन लोगों के लिए इस तरह के लग्जरी होटल जैसी सुसज्जित जगह बनानी पड़ी। स्थानीय सूत्र की मानें तो, करुणा वेस्ट बंगाल चाइल्ड एंड वेलफेयर सोसाइटी के अधीन में श्रीराम ढांग रोड, सलकिया स्थित सरकार द्वारा स्वीकृत इस होम को हावड़ा नगर निगम की डिप्टी मेयर मिनती अधिकारी की पुत्रवधू गीताश्री अधिकारी पिछले 5 वर्षों से चला रही थी। घर की पहली मंजिल पर गृह कार्यालय, दूसरी मंजिल पर बच्चों को रखने की जगह है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, घर में एक सुव्यवस्थित ड्राइंग रूम और तीसरी मंजिल पर दो बेड रूम और एक डाइनिंग रूम हैं। उसके ऊपर चौथी मंजिल पर एक मिनी बैंक्वेट है। एक अत्याधुनिक साउंड सिस्टम भी उस बैंक्वेट में है। सरकार द्वारा स्वीकृत इस होम में अलग-अलग जगहों से बच्चों को लाया गया था। इस चाइल्ड होम में क्रैडल बेबी रिसेप्शन सेंटर स्थापित किया गया था जिसके माध्यम से बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता था। सूत्र के मुताबिक कुछ दिन पहले एक महिला ने खुद राज्य सचिवालय नवान्न जाकर मुख्यमंत्री कार्यालय में चाइल्ड होम में हो रही बच्चों के शोषण को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत दर्ज होने के बाद ही प्रशासन हरकत में आया। हावड़ा सिटी पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर महिला थाने ने चाइल्ड होम की तलाशी ली। हावड़ा सिटी पुलिस ने इस मामले में चाइल्ड होम के मालिक समेत 9 और लोगों को गिरफ्तार किया। बच्चों को सुरक्षित जगह स्थानांतरित करने के बाद उस चाइल्ड होम को सील कर दिया गया। महिला थाना पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here