कोलकाता : हावड़ा ब्रिज ट्रैफिक गार्ड इलाक़े में शनिवार की शाम बड़ाबाजार थाने ने एक 16 साल की एक लड़की के लापता होने की सूचना दी थी। युवती दक्षिण 24 परगना के मल्लिकपुर की रहने वाली है। वह कॉलेज स्ट्रीट पर किताबें खरीदने के लिए अपने पिता के साथ कोलकाता आई थी और इसी दौरान वह अपने पिता से बिछड़ गई। अनजान शहर में बेटी के खो जाने से पिता परेशान हो गए और उन्होंने बिना देरी किए इसकी सूचना बड़ाबाजार थाने को दी।

Advertisement

लापता किशोरी के पास न तो कोई मोबाइल था और न ही उसके पिता के पास उसका कोई फ़ोटो। पुलिस के पास जानकारी बस इतनी थी कि किशोरी ने

रेड प्रिंटेड कपड़ा पहन रखा है। किशोरी के लापता होने की खबर वायरलेस सेट के जरिए हावड़ा ब्रिज ट्रैफिक गार्ड के सभी अधिकारियों को दी गई और बिना देरी के तलाश शुरू की गई। हावड़ा ब्रिज ट्रैफिक गार्ड सार्जेंट सुदीश कुमार दास को जल्द ही सफलता मिली, जब उन्होंने पगाया पट्टी के पास एक लड़की को लाल रंग की प्रिंटेड ड्रेस पहने देखा। किशोरी के चेहरे पर डर और चिंता साफ झलक रही थी।

सार्जेंट सुदीश कुमार दास ने उससे संपर्क किया और उसे आश्वस्त किया कि चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। पूछताछ में युवती ने बताया कि वह दक्षिण 24 परगना के मल्लिकपुर की रहने वाली है और अपने पिता से इस अनजान शहर में किताबें खरीदने के दौरान बिछड़ गई है।

सार्जेंट सुदीश कुमार दास द्वारा लड़की को हावड़ा ब्रिज ट्रैफिक गार्ड की चौकी लाया गया। उसके लिए कुछ भोजन और पानी की व्यवस्था की गई। इसकी सूचना बड़ाबाजार थाने को दी गई। पुलिस अधिकारियों के साथ लड़की के पिता भी वहां पहुंचे और बेटी को देखकर आखिरकार पिता के चेहरे पर राहत की मुस्कान लौट आई।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here