केएमसी चुनाव वार्ड नंबर 16 : मूलभूत सुविधाओं से अभी भी वंचित हैं निवासी, वार्ड की बदहाली दूर करना प्राथमिकता – शरद कुमार सिंह

105

कोलकाता : कोलकाता नगर निगम के चुनाव का शंखनाद हो चुका है और चुनावी मैदान में भाजपा, तृणमूल, वाममोर्चा, कांग्रेस आदि पार्टियों का चुनाव प्रचार भी जोरों से चल रहा है। चुनाव की तिथि 19 दिसम्बर निर्धारित है।

Advertisement

केएमसी चुनाव को लेकर सलाम दुनिया चुनावी मैदान में उतरे उम्मीदवारों से विशेष बातचीत कर उसे प्रकाशित कर रहा है।

पेश हैं वार्ड नंबर 16 के भाजपा उम्मीदवार शरद कुमार सिंह के साथ हुए बातचीत के प्रमुख अंश…

शरद कुमार सिंह

 

मूलभूत सुविधाओं से आज भी वंचित हैं वार्ड के निवासी

शरद कुमार सिंह ने कहा कि इस चुनाव में खड़े होने का उनका मुख्य उद्देश्य वार्ड नंबर 16 के निवासियों की मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था करना है, जिससे वे आज भी वंचित हैं। वार्ड में जल निकासी आज भी एक जटिल समस्या है। इसके साथ ही सार्वजनिक शौचालयों का हाल बेहद बुरा है। इससे भी बड़ी बात है कि वार्ड में लोगों को अपने ही घर में रंग व मरम्मत करने की इजाजत नहीं है। उन्होंने सीधे-सीधे कहा कि वार्ड 16 में यदि लोगों को घर में रंग करवाना या मरम्मत करवानी है तो उसके लिए उन्हें तृणमूल के लोगों को रुपये देने पड़ते हैं, बिना रुपये दिए काम करना सम्भव ही नहीं है। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि यदि वे पार्षद के रूप में जनता का समर्थन प्राप्त करते हैं तो सबसे पहले वे वार्ड की बदहाली को दूर करने के साथ ही लोगों को अपने घरों को रंग व मरम्मत करने के लिए उन्हें आजादी दिलवाएंगे। यानि कि अपना घर मरम्मत करने के लिए किसी को रुपये देने की जरूरत नहीं होगी। शरद कुमार सिंह ने कहा कि तृणमूल की वसूली की वजह से लोग अपना घर मरम्मत नहीं करवाते, जिससे बिल्डिंगें कमजोर होती हैं और अनायास ही बिल्डिंग गिरने की बड़ी दुर्घटनाएं घटित हो जाती हैं, जो बिल्कुल भी सही नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि वार्ड में मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करवाने के बाद वे वार्ड का समुचित विकास करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

 

‘विरोधी नहीं कलेक्शन एजेंट कहिए…’

भाजपा उम्मीदवार शरद कुमार सिंह ने वार्ड नंबर 16 से खड़े तृणमूल उम्मीदवार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे उन्हें विरोधी उम्मीदवार की तरह नहीं बल्कि सत्तारूढ़ पार्टी के एक कलेक्शन एजेंट के रूप में देखते हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पहले के तृणमूल पार्षद ने भी अपने पद से कलेक्शन एजेंट का ही काम किया है। केएमसी की ओर से वार्ड के लिए आवंटित राशि का 90 फीसदी हिस्सा कलेक्शन एजेंट अपने पास रख लेते हैं और उसमें से कुछ हिस्सा रखकर उसे ऊपर की ओर खिसका देते हैं। उन्होंने वार्ड नंबर 8 के पूर्व तृणमूल पार्षद पार्थ मित्रा का उदाहरण देते हुए कहा कि केएमसी चुनाव के लिए टिकट नहीं दिये जाने पर मित्रा ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि उन्होंने पार्टी द्वारा दिए गए कलेक्शन के टार्गेट को पूरा नहीं किया, इसलिए उन्हें टिकट नहीं मिला। शरद कुमार सिंह ने कहा कि एक पूर्व तृणमूल पार्षद की ऐसी प्रतिक्रिया आने के बाद विरोधी उम्मीदवार को कलेक्शन एजेंट नहीं तो और क्या समझा जाए!

 

जीत को लेकर 100% आश्वस्त

भाजपा उम्मीदवार ने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए वे केएमसी चुनाव में वार्ड नंबर 16 से जीत दर्ज करने को लेकर 100% आश्वस्त हैं। बस जरूरी है कि चुनाव स्वतंत्र व निष्पक्ष हो। वार्ड को लोगों को समर्थन उनके साथ है और चुनाव के परिणाम में इसी पुष्टि भी हो जाएगी।

 

 

 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here