प्रयागराज : पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल, वरिष्ठ भाजपा नेता और उत्तर प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी का रविवार की सुबह पांच बजे यहां निधन हो गया। उन्होंने अपने आवास पर आखिरी सांस ली। कुछ दिन पहले ही उन्हें सांस में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। स्वास्थ्य में सुधार होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। स्वजन उन्हें घर ले आए थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी के निधन पर गहरा शोक जताया है।

Advertisement

केशरीनाथ त्रिपाठी के निधन पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नाड्डा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के तमाम बड़े नेताओं ने शोक प्रकट करते हुए परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के जरिए शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए लिखा कि वरिष्ठ राजनेता, भाजपा परिवार के वरिष्ठ सदस्य और पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल आदरणीय केशरी नाथ त्रिपाठी का निधन अत्यंत दुखद है। प्रभु श्रीराम दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें व शोकाकुल परिजनों को दुख सहने की शक्ति दें।

परिवार के मुताबिक शाम 4:00 बजे प्रयागराज के रसूलाबाद घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा। पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी अपने पीछे पुत्र अपर महाधिवक्ता नीरज त्रिपाठी और दो बेटियों को छोड़ गए हैं। उन्हें आज ही लखनऊ के एसजीपीजीआई में भर्ती कराया जाना था।

पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी का जन्म 10 नवंबर, 1934 को हुआ था। इलाहाबाद हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता के साथ ही पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी तीन बार उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष रहे। वे भारतीय जनता पार्टी की यूपी ईकाई के अध्यक्ष भी रहे। पंडित केशरीनाथ त्रिपाठी 2014 से 2019 तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रहे। इस बीच उन्हें बिहार, मेघालय और मिजोरम राज्यों का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपा गया।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here