कोलकाता : मिशनरीज ऑफ चैरिटी ने अपने बैंक खातों को लेकर राजनीतिक दलों और अन्य लोगों से अनावश्यक बयानबाजी न करने का अनुरोध किया है। मिशनरीज ने बैंक खातों को फ्रीज करने की खबर को गलत बताया।

Advertisement

मंगलवार को मिशनरीज की ओर से विकार जनरल और कोलकाता के आर्चबिशप फादर डोमिनिक गोम्स ने एक बयान जारी कर कहा है, “केंद्र सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि मिशनरीज के खाते फ्रीज नहीं किए गए हैं। दरअसल, मिशनरीज की ओर से किए गए एफसीआरए लाइसेंस को रिन्यू करने के लिए जो आवेदन किया गया था, उसे गृह मंत्रालय ने मंजूरी नहीं दी है। चैरिटी के खाते फ्रीज करने के दावे में कोई सच्चाई नहीं है और हम अनुरोध करते हैं कि इस संबंध में और अधिक गैर जरूरी बयानबाजी नहीं की जाए।”

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट कर दावा किया था कि केंद्र सरकार ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी के खाते को फ्रीज कर दिया है जिसकी वजह से चैरिटी के अंतर्गत इलाजरत 22 हजार से अधिक मरीज बेसहारा हो गए हैं। इसके अलावा माकपा नेता सूर्यकांत मिश्रा ने भी इसी तरह के ट्वीट किए थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here