दिलीप घोष (फाइल फोटो)

कोलकाता : बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने बुधवार को एक बार फिर ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गंगा स्नान पर तृणमूल सुप्रीमो के कटाक्ष का जवाब देते हुए घोष ने कहा कि जो लोग अति प्रदूषित गंगा के किनारे रहते हैं वे गंगा के महत्व को नहीं समझते हैं। सुबह के समय इको पार्क में मॉर्निंग वॉक करने पहुंचे दिलीप घोष ने कहा कि ममता के मन में गंगा अथवा किसी भी पवित्र चीज के लिए कोई सम्मान या महत्व नहीं है इसीलिए उल-जुलूल बातें करती हैं।

Advertisement

प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए घोष ने कहा कि कोरोना के समय मोदी देश के लिए त्राता से कम नहीं थे, उन्होंने नागरिकों को मुफ्त में राशन दिया। ममता पर हमला बोलते हुए दिलीप ने कहा कि संकट के समय ममता ने लोगों के लिए कुछ नहीं किया, उल्टे केंद्रीय योजनाओं में भी घोटाला कर दिया। सरकारी कर्मचारियों को एक लाख रुपये देने का आश्वासन दिया था लेकिन आज तक नहीं दिया।

2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी एकजुटता पर कटाक्ष करते हुए घोष ने कहा कि ऐसे गठबंधन का राष्ट्रीय राजनीति पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है, लोग इनकी हकीकत जानते हैं। इसके अलावा मंगलवार से शुरू हुए सिंगुर में पार्टी के किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव में सिंगुर के लोगों ने तृणमूल कांग्रेस को जवाब दिया है। लोग ममता सरकार की धोखेबाजी को समझ चुके हैं। कोलकाता नगर निगम चुनाव में केंद्रीय बलों की तैनाती की पैरोकारी करते हुए घोष ने कहा कि चुनाव के समय सत्तारूढ़ पार्टी ने लोगों को डरा धमका कर घरों में कैद किया है। निगम चुनाव में भी ऐसा ही होगा और इससे बचने के लिए जरूरी है कि केंद्रीय बलों की तैनाती हो।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here