कोलकाता : पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। इस बीच सरकार ने पश्चिम बंगाल में कोरोना प्रबंधन के लिए डीसीजीआई द्वारा अनुमोदित दवाओं यानी एंटीबॉडी कॉकटेल थेरेपी और मोलनुपिरवीर के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है।

Advertisement

एंटीबॉडी कॉकटेल थेरेपी और मोलनुपिरवीर-डीसीजीआई द्वारा हाल ही में स्वीकृत एंटी-वायरल गोली को शहर के कई डॉक्टरों द्वारा कोरोना पीड़ित वयस्क रोगियों के इलाज के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ईयूए) के लिए सिफारिश की है। जिनके रोग की प्रगति का उच्च जोखिम है उनके लिए इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। दोनों उपचार विकल्पों ने वायरल वेरिएंट में लगातार प्रभावकारिता का प्रदर्शन किया है और आशाजनक परिणाम दिखाए हैं। यह दवा हल्के से मध्यम रोग वाले रोगियों में अस्पताल में भर्ती होने/मृत्यु की संख्या को कम करने में मदद करती है, जिनमें गंभीर बीमारी के बढ़ने का खतरा होता है। दवा संक्रमण के प्रसार को रोकने और स्थिति के संभावित बिगड़ने में सहायक हो सकती है।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कोरोना के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था। उन्होंने एंटीबॉडी कॉकटेल थेरेपी प्राप्त की और जल्दी से ठीक हो गए थे। कई अन्य हस्तियां भी इस थेरेपी को अपना रही हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here