कोलकाता : महानगर कोलकाता में कोरोना संक्रमण दर डरावने गति से बढ़ने लगा है। यहां हर दो में से एक शख्स पॉजिटिव पाया गया है। हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक संक्रमण दर बढ़कर 53 प्रतिशत से अधिक हो गई है। यानी कि यहां कोरोना वायरस टेस्ट करवा रहे हर दूसरे व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि हो रही है। कोलकाता में बीते दिन कोरोना के सात हजार 484 नए मरीज मिले और सात लोगों की मौत हुई। इसी के साथ यहां अब तक 3 लाख 71 हजार 142 लाख लोगों को संक्रमित पाया गया और 5 हजार 347 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

Advertisement

कोलकाता में इसी सप्ताह से कोरोना संक्रमण की रफ्तार में तेजी आनी शुरू हुई है। कोलकाता में मामले बढ़ने के पीछे की वजह बताते हुए डॉक्टरों का कहना है कि हाल ही में संपन्न कोलकाता नगर निगम चुनाव, क्रिसमस और नव वर्ष के मौके पर इकट्ठा हुई भीड़ के कारण संक्रमण तेजी से फैला है।

एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सर्विस के महासचिव मानस गुमटा ने कहा कि चुनावों और नव वर्ष के मौके पर भारी भीड़ देखने को मिली थी। अब प्रशासन गंगासागर मेले की तैयारियों में जुटा है। अगर नियमित टेस्टिंग होती है तो दैनिक मामलों की संख्या एक लाख से पार जा सकती है। कोलकाता में स्थिति बहुत चिंतनीय है और यहां का स्वास्थ्य ढांचा इसके लिए तैयार नहीं है। हजार से अधिक डॉक्टर संक्रमित हो चुके हैं। अगर पूरे पश्चिम बंगाल की बात करें तो शुक्रवार को यहां संक्रमण दर 26 प्रतिशत से अधिक पहुंच गई थी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here