भाजपा का आरोप- ‘गुरुदेव के नोबेल पदक की चोरी में तृणमूल का हाथ’

150

कोलकाता : गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की 161वीं जयंती पर भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने नोबेल पदक चोरी को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि नोबेल पदक चोरी मामले में तृणमूल की संलिप्तता रही है। इससे पहले तृणमूल के प्रचार प्रवक्ता कुणाल घोष ने सवाल उठाया था कि नोबेल पदक कहां गया?

Advertisement

भाजपा नेता सिन्हा ने कहा कि सीबीआई ने नोबेल पदक खोजने से रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किया है लेकिन राज्य सरकार ने केंद्रीय एजेंसियों को जांच में सहयोग नहीं किया और जांच से रोक दिया है। बंगाल में नोबेल पदक से लेकर हर तरह की चोरी में तृणमूल शामिल है।

इस बीच तृणमूल प्रदेश महासचिव कुणाल घोष ने भी राहुल सिन्हा पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि 2004 से सीबीआई जांच चल रही है लेकिन सीबीआई ने एक बार भी कोर्ट को नहीं बताया कि क्या पता चला।

उल्लेखनीय है कि 25 मार्च, 2004 की सुबह पता चला था कि रवींद्रनाथ टैगोर संग्रहालय से नोबेल पदक सहित कुल 50 कीमती सामान चोरी हो गए थे। घटना के छह दिन के भीतर ही चोरी की जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंप दी गई। बाद में सीबीआई ने अगस्त 2006 में अपनी जांच बंद कर दी थी। गुरुदेव को मिले नोबेल पदक के चोरी होने और सीबीआई की जांच के दौरान राज्य में माकपा की सरकार थी।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here