पहचान छुपा कर खेतों में करता था काम

Advertisement

हुगली : नगरपालिका की 16 नंबर वार्ड की पार्षद के आत्महत्या मामले में पुलिस ने रमा के निजी सचिव को डेढ़ साल के बाद गिरफ्तार कर किया है। रविवार को पुलिस अभियुक्त को ट्रांजिट रिमांड पर श्रीरामपुर आयी।

दरअसल, वर्ष 2020 में 10 फरवरी को तकरीबन साढ़े 11 बजे श्रीरामपुर रेलवे स्टेशन पर नगरपालिका की 16 नंबर वार्ड की पार्षद रमा नाथ (48) ने ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी थी। इस पर रमा की माँ ने रमा के निजी सचिव विजय साव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। घटना के लगभग पौने दो वर्ष बाद शनिवार की रात रेल पुलिस ने उत्तर प्रदेश से विजय साव को गिरफ्तार कर लिया। रविवार को अभियुक्त को ट्रांजिट रिमांड पर श्रीरामपुर लेकर आयी।

स्थानीय लोगों के अनुसार रमा नाथ और विजय के बीच निकट संबंध स्थापित हो गया था। रमा ने विजय साव के अनुरोध पर कई कार्य किए। आरोप है कि इन कार्यों के एवज में उसके पैसों का भी खूब लेनदेन होने के भी आरोप लगे। जब रमा नाथ को यह अहसास हुआ कि विजय उनका इस्तेमाल कर इलाके में वसूली कर रहा है। इसके बाद दोनों के संबंध में खटास आनी शुरू हो गई। रमा के परिजनों का आरोप है कि रमा को विजय बार-बार आत्महत्या के लिए उकसाता रहा। 10 फरवरी, 2020 को रमा ने ट्रेन के सामने छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली।

श्रीरामपुर जीआरपी थाना प्रभारी सुजन घोष ने बताया उत्तर प्रदेश में विजय अपनी पहचान छुपाकर खेत में काम करता था। जीआरपी की पांच सदस्यीय टीम ने पहले विजय के लोकेशन का पता लगाया और उत्तर प्रदेश पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमांड पर रविवार को वापस ले आई।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here