कोलकाता : राज्य के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार तृणमूल युवा नेता शांतनु बनर्जी को तीन दिनों की ईडी हिरासत में भेज दिया गया है। उन्हें बैंकशाल कोर्ट स्थित विशेष सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया था जहां से ईडी ने उन्हें 14 दिनों की हिरासत की मांग की थी लेकिन कोर्ट ने महज तीन दिनों की हिरासत स्वीकार की। कोर्ट में पेशी के दौरान शांतनु ने दावा किया कि वह इस मामले में पूरी तरह से निर्दोष है और भ्रष्टाचार से उसका कोई लेना-देना नहीं। उन्होंने कहा कि मैं निर्दोष हूं, मैं निर्दोष हूं, मैं निर्दोष हूं। शांतनु ने कोर्ट से निकलते समय भी दावा किया कि उन्हें फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में जो लोग जेल में बंद हैं वे मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement

इसके पहले दिन के समय साल्टलेक के सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित ईडी दफ्तर में बिधाननगर अस्पताल से एक डॉक्टर पहुंचे थे और शांतनु की चिकित्सकीय जांच कर उसे पूरी तरह से फिट बताया था।

रात 11:45 बजे के करीब उनकी गिरफ्तारी के बाद न्यायालय में पेश करने की सारी प्रक्रिया पूरी की गई। शुक्रवार उनसे 12 घंटे की पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। जनवरी महीने की 21 तारीख को हुगली जिले के बलागढ़ स्थित उनके घर पर ईडी ने छापेमारी की थी जहां से 300 उम्मीदवारों की सूची मिली थी। इनमें से सात लोगों को गैरकानूनी तरीके से नौकरी मिली है। पूछताछ में उसने अधिकारियों को गुमराह करने की कोशिश की थी। उनके बयान में विसंगतियां मिलने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। दावा है कि नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में शांतनु मुख्य कड़ी है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here