कोलकाता : बीरभूम जिला तृणमूल अध्यक्ष अनुब्रत मंडल को अपनी गिरफ्तारी का एहसास पहले ही हो गया था। गुरुवार की सुबह जब सीबीआई के अधिकारी 12 गाड़ियों में केंद्रीय बलों के जवानों को लेकर उनके घर पहुंचे उसके पहले ही अनुब्रत ने अपनी नियमित गतिविधियों से किनारा कर लिया था। इससे इस बात का अंदेशा है कि उन्हें सीबीआई गिरफ्तार करने जा रहा है, इसका एहसास या जानकारी किसी जरिये से उन्हें पहले ही हो गई थी।

Advertisement

उनके करीबी सूत्रों ने बताया है कि मंगलवार को मंडल अपने घर में बैठ कर रो रहे थे। गुरुवार की सुबह सीबीआई के पहुंचने से पहले वह अपने घर से भी बाहर नहीं निकले जबकि अमूमन वह सुबह के समय सो कर उठते ही स्नान करते हैं और पूजा करते हैं। उसके बाद नियमित ट्रेडमिल तक पैदल जाते हैं और थोड़ा बहुत व्यायाम भी करते हैं। पिछले 10 सालों से उनकी रोज की दिनचर्या में ये चीजें शामिल रही हैं लेकिन गुरुवार को उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया। यहां तक कि घर से बाहर नहीं निकले। उन्हें डायबिटीज की बीमारी है और कई अन्य उम्र जनित समस्याएं भी हैं जिसे लेकर वह नियमित व्यायाम करते थे लेकिन गुरुवार को वह भी नहीं किया। पूजा भी नहीं की और बोलपुर स्थित अपने घर पर सुबह से ही कमरे में बंद थे। उनके रूटीन में यह बदलाव संदिग्ध है।

दो दिन पहले ही सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी दिल्ली से कोलकाता पहुंचे थे जिसके बाद से ही अनुब्रत को गिरफ्तार करने का जाल बुना जाने लगा था। इसकी जानकारी अनुब्रत को भी मिल गई थी। सूत्रों ने बताया है कि सीबीआई के अंदर भी मंडल के मुखबिर मौजूद हैं जिन्होंने टीम के पहुंचने और उनकी गिरफ्तारी की पूरी योजना की जानकारी दे दी थी। इसकी वजह से अमूमन दबंग चरित्र वाले अनुब्रत फूट-फूटकर रो रहे थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here