नयी दिल्ली : देश के दूसरे सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी की झोली में एक और कंपनी आने वाली है। रिलायंस रिटेल जर्मनी की रिटेल कंपनी मेट्रो कैश एंड कैरी के भारतीय कारोबार को 50 करोड़ यूरो (4,060 करोड़ रुपये) में खरीद सकती है।

Advertisement

सूत्रों ने सोमवार को बताया कि रिलायंस रिटेल और मेट्रो कैश एंड कैरी के बीच होने वाले इस डील में कंपनी के 31 होलसेल डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर, जमीन और मालिकाना हक वाली अन्य संपत्तियां शामिल हैं। दरअसल रिलायंस रिटेल देश की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी है और इस डील से उसे बी2बी श्रेणी में अपनी मौजूदगी बढ़ाने में मदद मिलेगी।

दरअसल रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की रिलायंस रिटेल और मेट्रो कैश एंड कैरी के बीच इस डील को लेकर लंबे समय से बातचीत चल रही है। पिछले हफ्ते जर्मन कंपनी मेट्रो रिलायंस रिटेल के प्रस्ताव पर सहमत हो गई है। हालांकि, दोनों कंपनियों ने फिलहाल इस पर टिप्पणी करने से इनकार किया है।

उल्लेखनीय है कि मेट्रो कैश एंड कैरी फिलहाल भारत में होलसेल ब्रांड के तहत 31 स्टोर का संचालन कर रही है। मेट्रो एजी ने साल 2003 में भारतीय बाजार में प्रवेश किया था, लेकिन अब वह भारतीय बाजार से निकलने की तैयारी में है। मर्चेंट बैंकर जेपी मॉर्गन ऑर गोल्डमैन सैश ने मेट्रो कैश एंड कैरी कंपनी के कारोबार का वैल्यू करीब एक अरब डॉलर आंका था।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here