West Bengal : रियल इस्टेट कंपनी से वसूली माँगने का आरोप, नहीं देने पर उठा ले गए इंजीनियरों को

271

कोलकाता : जहाँ धमाकेदार तरीके से जीतकर राज्य की सत्ता में तीसरी बार काबिज हुईं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में निवेशकों को आकर्षित करने की कोशिश कर रही हैं, वहीं उनकी पार्टी के नेता वसूली माँगने से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।
घटना हुगली जिले की है। रियल इस्टेट व्यवसाय से जुड़े पूर्ति ग्रुप के एक प्रोजेक्ट स्थल से 3 इंजीनियरों को उठा ले जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। ग्रुप के अधिकारी महेश अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को ई-मेल भेजकर पूरी घटना से अवगत कराया है और इसमें हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है।

Advertisement
फोटो क्रेडिट : ट्विटर

महेश अग्रवाल के अनुसार दुर्गापूजा के दौरान राजीव बसु रॉय नामक एक व्यक्ति, जो खुद को स्थानीय विधायक असीमा दी का खास बताता है, ने 50,000 टी शर्ट देने को कहा। जब अधिकारी ने उसे फोन पर जवाब दिया कि यदि मंगलाहाट से भी सस्ते में टी शर्ट खरीदा जाए तो एक टी शर्ट की कीमत 70 रुपये होगी और इस पर 35 लाख रुपये खर्च होंगे। अधिकारी का कहना है कि यह सुनकर राजीव बसु रॉय ने फोन काट दिया और मैसेज कर 5,000 टी शर्ट देने को कहा।

अग्रवाल ने कहा कि गत गुरुवार को राजीव आया और वसूली की माँग की। अगले दिन रुपये न मिलने पर उसने फिर साइट पर आने और अपनी ताकत और राजनीतिक शक्ति दिखाने की धमकी दी। शुक्रवार की सुबह झारखंड नंबर प्लेट वाली एक स्कोर्पियो में प्रोजेक्ट साइट पर आ धमका और काम कर रहे लोगों को लाठी-बाँस से पीटना शुरू कर दिया। वहाँ से 3 इंजीनियरों को अगवा कर ले जाते वक्त उनसे वसूली की रकम देकर उन्हें दुर्गापुर एक्सप्रेसवे स्थित एक होटल से ले जाने की बात कही।
इस घटना को ट्वीट के जरिए साझा करते हुए बीजेपी सांसद लॉकेट चटर्जी ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here