नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 73वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर मंगलवार को सशस्त्र बलों के लिए 384 वीरता और अन्य रक्षा अलंकरणों के पुरस्कारों को मंजूरी दी। भारतीय सेना के छह सैनिकों को शौर्य चक्र से नवाजा गया है जिनमें पांच को यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया है। टोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता 4 राजपूताना राइफल्स के सूबेदार नीरज चोपड़ा को परम विशिष्ट सेवा पदक से नवाजा जाएगा। चीन और पाकिस्तान की सीमा पर तैनात गणतंत्र दिवस पर उत्तम युद्ध सेवा पदक से सम्मानित किया जाएगा।

Advertisement

इसके अलावा 29 परम विशिष्ट सेवा पदक, 04 उत्तम युद्ध सेवा पदक, 53 अति विशिष्ट सेवा पदक, 13 युद्ध सेवा पदक, 03 बार विशिष्ट सेवा पदक, 122 विशिष्ट सेवा पदक, 03 बार सेना पदक (वीरता) दिए जायेंगे। इसके अलावा 81 सेना पदक (वीरता), 02 वायु सेना पदक (वीरता), 40 सेना पदक (कर्तव्य के प्रति समर्पण), 08 नौ सेना पदक (कर्तव्य के प्रति समर्पण) और 14 वायु सेना पदक (कर्तव्य के प्रति समर्पण) दिए जाने हैं। इस बार विशिष्ट सेवा मेडल्स के तीन ”बार” भी दिए जाने हैं। पहले ही किसी वीरता पुरस्कार से सम्मानित हो चुके सैनिकों को दोबारा यह पुरस्कार मेडल के तौर पर न देकर एक ”बार” के रूप में दिया जाता है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 122 विशिष्ट सेवा मेडल्स, 81 सेना मेडल्स (वीरता), दो वायुसेना मेडल्स (वीरता), 40 सेना मेडल्स (ड्यूटी के प्रति समर्पण), आठ नौ सेना मेडल्स (ड्यूटी के प्रति समर्पण) और 14 वायुसेना मेडल्स (ड्यूटी के प्रति समर्पण) प्रदान करेंगे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here